दिवाली पर निबंध |Diwali Essay in Hindi |Diwali Nibandh

Diwali Essay in Hindi |Diwali Nibandh

भारत के त्योहारों में दीपावली भी एक अत्यन्त महत्वपूर्ण योहार है। कहते हैं कि जब श्री रामचन्द्रजी लंकाविजय कर अयोध्या आये तो उसी खुशी में लोगों ने अपने घरों में घी के दोपक जलाये और खुशियाँ मनायीं। कोई कहते हैं कि दुर्गा ने जब शुम्भनिशुम्भ राक्षसों का वध कर दिया तो लोगों ने खुशियाँ मनायीं । वे दोनों राक्षस अत्यन्त अत्याचारी थे । परन्तु आजकल लोग यह मानते हैं कि यह त्योहार लक्ष्मीजी का है। लक्ष्मीजी विष्णु भगवान की भाय व धन की देवी मानी जाती हैं। अस्तु, व्यापारी वर्ग या वैश्य लोग इसे बड़े उत्साह से मनाते हैं । दीपावली का त्योहार कार्तिक की अमावस्या को मनाया जाता है । यह त्योहार लगभग पाँच दिन चलता है धनतेरस छोटी दीपावलीबड़ी दीपावलीगोवर्धन और भ्रातृद्वितीया या भैया-दूज। कातिकी अमावस्या को दीपावली का त्योहार होता है । इस दिन लोग नवीननवीन वस्त्र धारण करते हैं तथा खील, खिलौनेसुन्दरसुन्दर मूतियाँचित्रमिठाइयाँ आदि खरीदकर लाते हैं। कोईकोई धनी पुरुष चाँदी की लक्ष्मीजी की प्रतिमा रखते हैं । कण्डील, मोमबत्तीफुलझड़ी सर्वत्र बिकती हुई दिखाई देती हैं।

सन्ध्या से ही द्वार, बाजार, गली आदि अभी जगमगा उठते हैं । रात्रि में दिन हो जाता है । कहीं लड़के मोमबत्ती जलाते हैं, कहीं फुलझड़ी छोड़ते हैं, कहीं पटाखे चलाते हैं । घरों में रंग विरंगे कण्डीलों का प्रकाश सुन्दर देता है बहुत ही दिखाई । रात्रि को लक्ष्मीपूजन होता है और लोग खी, खिलौने और मिठाइयाँ बाँटते हैं । व्यापारियों के यहाँ विशेषकर आज के ही दिन बहियाँ बदली जाती हैं । वे लोग इनका पूजन भी करते हैं। परन्तु सबसे अधिक दर्शनीय वस्तु तो रोशनी होती है । दीपों की जगमगाती पंक्ति मन को मोह लेती है । शहरों में बिजली के हरे, पीले, लाल, नीले लट्टुओं से दुकानें तथा घर सजाये जाते हैं। अस्तुवे पुतेलिपे मकान चमक उठते हैं। प्रत्येक घर में लक्ष्मीपूजन करने के उपरान्त लोग रोशनी देखने जाते हैं और बाजारों में मनुष्यों की भीड़ लग जाती है । सभी मनुष्य अपने सुन्दर से सुन्दर कपड़े पहनकर निकलते हैं । इसी को हम दीपावली का त्योहार कहते हैं ।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को दिवाली पर निबंध (Diwali Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Diwali Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह दिवाली पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment