होली पर निबंध |Holi Essay in Hindi |Holi Nibandh

Holi Essay in Hindi |Holi Nibandh

Essay on Holi in Hindi (550 Word)

होली का त्योहार संपूर्ण भारतवर्ष में बड़े हल्लास से मनाया जाता है। यह रंगों का त्योहार है। इस दिन सभी लोग बच्चे युवा और वृद्ध एक दूसरे के गले मिल कर रंग और गुलाल लगाते हैं तथा मिठाइयाँ बाँटते हैं। इससे आपस में भाई-चारा बढ़ता है। यह त्योहार हमें आपस में मिलजुलकर रहने की प्रेरणा देता है।

यह त्योहार भारत में सदियों से मनाया जा रहा है। ऐसी मान्यता है। कि हिरण्यकश्यप की बहन होलिका ने इस दिन भगवान विष्णु के भक्त प्रह्लाद को जाने से मारने की कोशिश की थी। क्योंकि प्रहलाद के पिता हिरण्यकश्यप अपने पुत्र प्रहलाद की विष्णु भक्ति के अत्यंत विरोधी थे। उन्होंने अपने पुत्र प्रहलाद को जान से मरवाने के अनन्य प्रयास किए परंतु वह सफल नहीं हो सके। तब एक दिन उन्होंने अपनी बहन होलिका को प्रहलाद के प्राण लेने के लिए कहा। होलिका को वरदान था कि वह आग में नहीं जलेगी उसके पास ऐसी वरदानी चुनरी (दुपट्ा) थी जिसे ओढ़कर वह आग में भी सुरक्षित रह सकती थी।

इसलिए वह अपने भाई हिरण्यकश्यप की बात मानकर प्रहलाद को अपनी गोद में लेकर बैठ गई और हिरण्यकश्यप ने उसके चारों तरफ लकड़ियाँ रखकर आग लगा दी। लेकिन भगवान विष्णु ने अपने भक्त प्रहलाद को बचा लिया और वरदानी होलिका उस आग में जलकर भस्म हो गई। तभी से होली का यह त्योहार मनाया जाने लगा। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की विजय के रूप में मनाया जाता है। इस दिन सभी लोगों को चहिए कि वे होलिका दहन के रूप में अपने अन्दर की सभी बुराइयों को जलाकर नष्ट कर दें और अच्छाइयों को ग्रहण कर लें, जैसे भगवान विष्णु ने दुष्ट होलिका को नष्ट करके अपने भक्त प्रहलाद को बचाया था।

होलिका-दहन फाल्गुन (मार्च) माह के अंतिम दिन पूर्णमासी को होता है। उसके अगले दिन हिन्दू नववर्ष के चैत्र माह में होली खेली जाती है। इसी दिन से वसंतोत्सव प्रारंभ होता है। लोग नाचते हैं, गाते हैं और अपने घरों में गुझिया तथा मिठाइयाँ बनाते हैं। सभी लोग मिठाइयाँ एक-दूसरे को बाँटकर खाते हैं। इसी माह में गेहूँ, चना आदि की नई फसल भी तैयार हो जाती है, इसलिए इस त्योहार की खुशी चौगुनी हो जाती हैं

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को होली पर निबंध (Holi Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Holi Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह होली पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment