क्रिसमस पर निबंध |Christmasr Essay in Hindi |Christmasr Nibandh

Christmasr Essay in Hindi |Christmasr Nibandh

क्रिसमस डे ईसाइयों का प्रमुख त्योहार है। यह हर वर्ष 25 दिसंबर को मनाया जाता है। इसे बड़ा दिन भी कहते हैं। ऐसा माना जाता है कि 25 दिसंबर से दिन बड़ा होना आरंभ हो जाता है और रात छोटी होने लगती है।

जिस प्रकार से हिन्दू हल्लास से दीपावली और होली मनाते हैं, वैसे ही ईसाई क्रिसमस डे मनाते हैं। दुनिया में भारत ही मिले ऐसा धर्मनिरपेक्ष देश है जिसमें प्रत्येक धर्म, लिया जाति और भाषा के लोग रहते हैं। यहाँ पर है । सभी को अपने-अपने धर्म को मानने और 2 अपनी जीवनपद्धति के अनुसार रहने की स्वतंत्रता है। यहाँ विभिन्न प्रकार के धर्मावलंबी अपने धार्मिक रीति-रिवाज़ों का पालन करते हुए निडरतापूर्वक आनंदमय जीवन व्यतीत कर रहे हैं। जब मुस्लिम ताजिए निकालते हैं तो यहाँ कोई उनका विरोध नहीं करता, बल्कि भारत सरकार उनकी सुरक्षा का कड़ा प्रबंध करती है। इसी प्रकार जैनसिखबौद्ध, ईसाई सभी की सुरक्षा व्यवस्था सरकार करती है ताकि सभी अपने-अपने धर्म का पालन करते हुए प्रेमभाव से मिल-जुल कर रह सकें। दुनिया के सभी त्योहार और धर्म हमें आपस में एकतामेल-जोल और शांति से जीने का संदेश देते हैं।

क्रिसमस डे के दिन ईसा मसीह का जन्म हुआ था। उनका जन्म एक यहूदी परिवार में फिलिस्तीन में हुआ था। प्रथम शताब्दी ईसवीं (AD) उनके पैदा होने के बाद से ही प्रारंभ हुई थी। उनसे पहले के समय को ईसा पूर्व (BC) कहा जाता है।

जिस प्रकार हिन्दू कृष्ण के जन्मदिवस पर जन्माष्टमी का त्योहार धूमधाम से मनाते हैं, वैसे ही ईसाई क्रिसमस डे हल्लास से मनाते हैं। भारत एक ऐसा देश है जहाँ प्रत्येक धर्म को सम्मान देते हुए उस दिन राष्ट्रीय अवकाश दिया जाता है। हमारे यहाँ त्योहारों पर उपहार देने की परंपरा है। क्रिसमस डे पर भी लोग आपस में एक-दूसरे को उपहार देते हैं और चर्च (गिरिजाघर) में क्रिसमस डे मनाते हैं। चर्च और अपने घरों को क्रिसमस ट्री, बिजली के बल्बोंफूलमालाओं से सजाने-संवारते हैं। चर्च में मोमबत्तियाँ जलाते हैं। क्रिसमस डे पर अपने घर सान्ता क्लॉज़ का आना बहुत शुभ माना जाता है, जो फादर क्रिसमस का ही स्वरूप है। सान्ता क्लॉज़ अपने साथ बहत सारे उपहार भी लाता है।

क्रिसमस डे को अर्धरात्रि में घटियाँ बजने लगती हैं। इस त्योहार पर लोग अपने मित्रपड़ोसी एवं रिश्तेदारों को बधाईपत्र भेजते हैं तथा अपने घरों और दफ्तर में केक काटकर क्रिसमस डे मनाते हैं। इस त्योहार पर चारों ओर प्रसन्नता का वातावरण होता है।

क्रिसमस डे को सम्पूर्ण ईसाई समुदाय मनाता है। परंतु आजकल बहुत से गैर-ईसाई भी इस त्योहार को मनाते हैं। यह त्योहार विश्व भर में मनाया जाता है। अमेरिका में तो 96 प्रतिशत लोग इस त्योहार को मनाते हैं। यह त्योहार प्रेमशांति और समृद्धि का प्रतीक है।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को क्रिसमस पर निबंध (Christmasr Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Christmasr Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह क्रिसमस पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *