वर्षा ऋतु पर निबंध |Rainy Season Essay in Hindi |Rainy Season Nibandh

Rainy Season Essay in Hindi |Rainy Season Nibandh

भारत में वर्षा ऋतु का आगमन जुलाई के महीने में होता है तथा सितंबर के महीने तक वर्षा होती रहती है। यह ऋतु किसानों के लिए वरदान सिद्ध होती है। वे इस ऋतु में खरीफ की फसल बोते हैं। वर्षा ऋतु वनस्पतियों के लिए भी वरदान होती है। वर्षा काल में पेड़-पौधे हरे-भरे हो जाते हैं। वर्षा जल से उनमें जीवन का संचार होता है। वन-उपवन और बाग-बगीचों में नई रौनक और नई जवानी आ जाती है। तालतलैयों व नदियों में वर्षा -जल उमड पड़ता है। धरती की प्यास बुझती है तथा भूमि का जलस्तर बढ़ जाता है। मेढक प्रसन्न होकर टर्रटर्र की ध्वनि उत्पन्न करने लगते हैं।

झींगुर एक स्वर में बोलने लगते हैं। वनों में मोरों का मनभावन नृत्य आरंभ हो जाता है। हरीभरी धरती और बादलों से आच्छादित दृश्य देखते ही बनता है। वर्षा ऋतु गर्मी आसमान का से झुलसते जीव-समुदाय को शांति एवं राहत पहुँचाती है। लोग वर्षा ऋतु का भरपूर आनंद उठाते हैं।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को वर्षा ऋतु पर निबंध (Rainy Season Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Rainy Season Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह वर्षा ऋतु पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment