गणतंत्र दिवस पर निबंध |Republic Day Essay in Hindi |Republic Day Nibandh

Republic Day Essay in Hindi |Republic Day Nibandh

26 जनवरी हमारे देश के इतिहास में एक महत्वपूर्ण दिन है। इसी दिन हमारा संविधान लागू हुआ एवं हमारा देश एक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य बना। यह हमें उस दिन का स्मरण कराता है जब कांग्रेस पाटी ने विदेशी शासन से देश को मुक्त कराने की ऐतिहासिक शपथ ग्रहण की। इसकी तैयारियाँ एक महीना पहले ही प्रारम्भ हो जाती हैं। इण्डिया गेट के निकट घास के मैदानों में बैठने की व्यवस्था की जाती है। कुछ सीटें विशेष अति महत्वपूर्ण अतिथियों के लिये एवं अन्य सामान्य सीटें होती हैं। शहर के विभिन्न स्थानों से टिकट वितरण की व्यवस्था की जाती है। रक्षा बल की प्रत्येक रेजीमेण्ट से एक पलटन समारोह में भाग लेती है।

भारतीय नौसेना एवं वायुसेना से भी इसी तरह तैराक एवं वायु सैनिक बुलाये जाते हैं। देश सगौरव बन्दूकों टैंकों, जहाज़ एवं लड़ाकू विमान के माध्यम से अपनी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन करता है। समारोह सुबह प्रारम्भ होता है। प्रधानमंत्री ‘अमर जवान ज्योति’ पर पुष्प गुच्छ अर्पित करते हैं। वह विभिन्न युद्धों में अपने देश के लिये जान देने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं। ठीक आठ बजे राष्टपति ‘राजपथ’ पर पहुँचते हैं । प्रधानमंत्री एवं रक्षामंत्री उनका स्वागत करते हैं। राष्ट्रपति हमारी तीनों सेनाओं के सर्वोच्च कमांडर भी उपस्थित होते हैं।

पूर्व युद्धों के वीरों के साथ परेड प्रारम्भ होती है। सैन्य बल के सभी सदस्य जिन्हें सर्वोच्च वीरता पुरस्कार ‘परमवीर चक्र’ से सम्मानित किया गया वह परेड की अगुवाई करते हैं। तत्पश्चात् छोटे एवं युवा बच्चे जिन्होंने वर्ष के वीरता पुरस्कार जीते हैं। वह आते हैं। सैनिक तेजी से ‘मार्च’ करते हैं। बैंड देशभक्ति धुनें बजाते हुये निकलते हैं। जब वह सलामी मंच के सामने से गुजरते हैं वह अपनी आँखें राष्ट्रपति की ओर कर लेते हैं। कमांडिग अधिकारी सलामी देते हैं एवं मार्च करते हुये आगे निकल जाते हैं। अर्द्ध सैनिक बल के सदस्य भी परेड में हिस्सा लेते हैं। सबसे अन्त में विभिन्न राज्यों की झांकियाँ आती हैं। जिनमें लोगों के जीवन को प्रदर्शित करते हैं।

सांस्कृतिक दल लोकनृत्यों का प्रदर्शन करते हैं। दिल्ली के विभिन्न विद्यालयों के छात्र अन्त में आते हैं। वह नृत्य नाटिका एवं राष्ट्रीय गानों का सुन्दर प्रदर्शन करते हैं। सम्पूर्ण कार्यक्रम का टीवी पर सीधा प्रसारण होता है। 28 जनवरी को “बीटिंग ऑफ रिट्रिट” कार्यक्रम होता है। परेड में हिस्सा लेने वाले सैनिक अपनी बैरक में वापिस जाते हैं। हमारे सैन्य बलों द्वारा प्रतिवर्ष किया जाने वाला यह एक बेहतरीन प्रदर्शन है।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को गणतंत्र दिवस पर निबंध (Republic Day Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Republic Day Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह गणतंत्र दिवस पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment