बागीचे पर निबंध |The Garden Essay in Hindi |The Garden Nibandh

The Garden Essay in Hindi |The Garden Nibandh

बागबानी से मुझे असीम आनन्द की प्राप्ति होती है। बागबानी मेरा प्रिय शौक है। मेरे अवकाश के क्षणों में मैं बागबानी करता हूँ। फूल एवं फल उगाने की इच्छा मुझमें बहुत प्रबल है। मैं अपने फुरसत के सभी क्षण बाग में फलफूलसब्जियां एवं पौधे उगाने में व्यतीत करता हूँ। मैंने अपने बगीचे में संतरे, , , अनार एवं केले सबके पेड़ लगाये हैं। सब्जियों में पालक, गाजर, मूली, टमाटर, गोभी एवं बैंगन मेरे बगीचे में जरूर मिल जायेगें।

अपना बगीचा मुझे आत्मिक सुख प्रदान करता है। अपने इस शौक के कारण मैं शारीरिक रूप से चुस्त रह पाता हूं। किन्तु बागबानी से सबसे बड़ा लाभ यह भी है कि मुझे प्रकृति के साथ समय बिताने का अवसर मिलता है। प्रकृति इतनी उत्तम है कि इसमें ईश्वर के दर्शन होते हैं। वर्डसवर्थशैलेकीटस आदि कवियों ने प्रकृति पर इतना कुछ लिखा है क्योंकि प्रकृति उन्हें सबसे अधिक आकर्षित करती है।

एक कवि ने कहा है, ‘एक उद्यान में व्यक्ति ईश्वर के सबसे समीप होता है।’ बगीचे मे काम करके एवं समय बिता कर हम प्रकृति की गोद में विश्राम करते हैं। वर्डसवर्थ जैसे कवि के लिये प्रकृति ही सब कुछ है। उनके लिये प्रकृति शिक्षक है, उपदेशक है, माँ है, चिकित्सक है, आश्रयदाता है और मित्र है।

मेरे लिये भी इसका यही महत्व है। मुझे पेड़पौधों और फूलों में ईश्वर दिखाई पड़ता है। मेरे लिये यह खुशी प्राप्ति के एवं प्रसन्नता के साधन हैं। सुबह की ठण्डी एवं स्वच्छ हवा, फूलों की महक, भंवरों का गुंजन, एवं उनके गुनगुनाने से उत्पन्न संगीत मुझे सौंदर्य एवं आनन्द की दुनिया में ले जाता है।

इसके अतिरिक्त बागबानी हर तरह से आनन्ददायक है। जरूरतमंद बागबानी द्वारा आर्थिक लाभ अर्जित कर सकते हैं। जबकि धनवान इसे शौंक रूप में अपना कर प्रसन्नता एवं आन्नद प्राप्त करते हैं। बागबानी अवकाश के क्षणों का उपयोग करने की प्रेरण देती है। एवं हमारे हृदय में पवित्र एवं शीतल भाव पैदा करती है। यह दु:ख, उदासी, तनाव एवं निराशा की दुनिया से हमें दूर ले जाती हैं।

किसी महान लेखक ने कहा है, ‘उद्यान धरती के स्वर्ग हैं।’ यह आनन्द और प्रेरणादायक स्थल हैं। यहां शहरों की भीड़ भरी सड़को से दूर हम ईश्वर और उसके कलाकृतियों का आनन्द उठा सकते हैं।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को बागीचे पर निबंध (The Garden Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी The Garden Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह बागीचे पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *