विज्ञान और तकनीकी पर निबंध | Science and Technology Essay in Hindi | Science and Technology Nibandh

Science and Technology Essay in Hindi | Science and Technology Nibandh

भारत एक विकासशील देश है तथा उन्नति के मार्ग पर निरन्तर प्रयासरत है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत विकास के लिए प्रयत्नशील है। जनवरी 2003 में बंगलौर में आयोजित भारतीय विज्ञान कांग्रेस के 90वें अधिवेशन में प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारत को एक विकसित देश बनाने के अपने स्वप्न को साकार करने के लिए ईमानदारी की भावना से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी को अपनाना चाहिए। हमारी भारतीय सभ्यता उन सभ्यताओं में से है, जिसके लिए ज्ञान और वैज्ञानिक जिज्ञासा एक मूल विशेषता रही है। पिछले पांच वर्षों से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के चुने हुए क्षेत्रों में सहस्राब्दी कार्यक्रमस्वर्णजयंती स्कॉलरशिप तथा अनुसंधान एवं विकास संस्थानों में व्यापक सुधार और विशिष्ट उद्देश्यों के लिए उनकी नेटवर्किंग जैसी कई तरह की पहल की जा रही है।

इसी प्रकार, मार्च 2003 में अमेरिका के साल्कइंस्टीट्यूट के डा. इंदर वर्मा और भारतीय जीनोम को क्रमबद्ध करने वाले वैज्ञानिकों ने माना है कि भारत विश्व अनुसंधान एवं विकास की धुरी बन सकता है। इसके साथ ही भारत में पिछले पांच सालों से विदेशी कंपनियों ने 100 से भी अधिक अनुसंधान एवं विकास केन्द्र स्थापित किए हैं। अमेरिकी कम्पनी का मानना है कि भारत में कम निवेश होने के बावजूद भी यहाँ के अनुसंधान एवं विकास के परिणाम अद्भुत हैं। इसी कारण से अंतर्राष्ट्रीय कंपनियाँ अपने अनुसंधान एवं विकास कार्यों के लिए भारत को आधार बना रही हैं।

नैनो विज्ञान ऊर्जा प्रचुरता जीनोम अनुसंधान, औषधियों और प्रतिरक्षण विज्ञान में भावी प्रवृत्तियों तथा परिवहन प्रणालियों जैसी उन्नत प्रौद्योगिकियों पर किए जाने वाले विश्व व्यय के लिहाज से वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के अधीन 40 प्रयोगशालाओं रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के कई केन्द्र-परमाणु ऊर्जा विभाग में आने वाले भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र और साहा नाभिकीय भौतिकी संस्थान इस बात का प्रमाण हैं कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रति देश में रुझान पैदा हुआ है तथा वह इस क्षेत्र में पूर्णतया विकास करने के लिए प्रयत्नशील है।

आज विश्व अर्थव्यवस्था में प्रतिस्पर्धा बड़ी तेजी से बढ़ रही है। इसका सबसे बड़ा आधार प्रौद्योगिकी है। हमारा विज्ञान सामाजिक दायित्वों को भी पूरा करता है। अंतरिक्ष आधारित प्रणालियोंदूरसंचार, स्वास्थ्य रक्षा और सूचना प्रौद्योगिकी के विकास में भी यह सहायक है। सौर ऊर्जा उत्पन्न करने, थोरियम के अपने प्रचुर भंडारों से ऊर्जा प्रदान करने या हाइड्रोजन आधारित सचल ऊर्जा टैकों का आविष्कार और तटवर्ती समृद्ध में छिपे संघनित मिथेन भंडारों की खोज आदि हाईटेक माने जाने वाले अनुसंधान हमारे लिए कहीं अधिक उपयोगी हैं; क्योंकि अभी भी हम ऊर्जा की भारी कमी का सामना कर रहे हैं।

परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष डा. अनिल काकोदरक ने विज्ञान कांग्रेस में बताया था कि थोरियम उपयोग की प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उन्नत देशों द्वारा इन क्षेत्रों में किए जा रहे अग्रणी प्रौद्योगिकी कार्यों की तुलना में हम आगे हैं। अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत की उल्लेखनीय प्रगति ने चार महानगरों से दूर-दूर के स्थानों तक पहुँच उपलब्ध कराई है। चाहे निरक्षरता समाप्त करनी हो या औद्योगिक तथा स्वास्थ्य रक्षा क्षेत्र में नैनो टेग बनाने की बात हो या वनों के क्षरण का पता लगाना हो या भाभा परमाणु अनुसंधान जैसी हाईटेक संस्था में दूरदराज के गांवों के लिए बेजोड़ परमाणु ऊर्जा पैक और तटवर्ती बस्तियों के लिए पानी की समस्या को दूर करना हो, हमें विभिन्न शाखाओं में ऐसी समर्थ प्रौद्योगिकियाँ उपलब्ध करानी होंगी।

नई विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी नीति में सभी क्षेत्रों में चाहे वह कृषि का क्षेत्र हो या उद्योग या व्यापार का क्षेत्र या सेवाओं का क्षेत्र हो। हर क्षेत्र में विज्ञान को समस्या का समाधान माना गया है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी काफी हद तक व्यक्ति के रहन-सहन के ढंग को बदल देता है। हमारे देश में परमाणु प्रौद्योगिकी के प्रदर्शन को संभव बनाने वाले हमारे देश के राष्ट्रपति डा. कलाम हैं। भारतवर्ष में निरंतर विज्ञान और प्रौद्योगिकी में विकास और उन्नति हो रही है। इन विकास कार्यक्रमों में यह बात स्पष्ट हो जाती है कि भारत की अनुसंधान एवं विकास केन्द्र बनने की दिशा में अग्रसर है तथा निरंतर प्रयासरत है। यदि वह इसी प्रकार प्रगति के पथ पर बढ़ता रहा तो निस्संदेह वह विश्व में एक महान शक्ति के रूप में उभरेगा।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को विज्ञान और तकनीकी पर निबंध (Science and Technology Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Science and Technology Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह विज्ञान और तकनीकी पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment