टेलीविजन पर निबंध | Television Essay in Hindi | Television Nibandh

Television Essay in Hindi | Television Nibandh

दूरदर्शन मनोरंजन का सर्वोत्तम साधन है। दूरदर्शन पर हम केवल कलाकार की ध्वनि ही नहीं सुन सकतेअपितु उसके हाव-भाव और कार्यकलापों को स्पष्ट देख पाते हैं। आज टेलीविज़न बहुत सस्ते हो गए हैं, जिससे सामान्य व्यक्ति भी उसे आसानी से खरीद सकता है। टेलीविज़न का आविष्कार अधिक पुराना नहीं है। 25 जनवरी, 1926 में इंग्लैण्ड के इंजीनियर जे. एलबेयर्ड ने इसका आविष्कार किया था।

भारत में दूरदर्शन का प्रथम केन्द्र 15 सितंबर 1959 को नई दिल्ली में चालू हुआ था। आज तो सारे देश में दूरदर्शन का प्रसार हो रहा है। दूरदर्शन पर प्रतिदिन अनेक कार्यक्रम और धारावाहिक प्रस्तुत किए जाते हैं। चित्रहार एक लोकप्रिय कार्यक्रम हैजिस में हम मधुर गीतों का आनंद लेते हैं। इसके अतिरिक्त दूरदर्शन पर फिल्में भी प्रसारित की जाती हैं। रामायण महाभारत और बुनियाद जैसे कार्यक्रमों ने दूरदर्शन को बुलंदी पर पहुँचा दिया है। दूरदर्शन मनोरंजन के अलावा ज्ञान में वृद्धि करने वाला भी थ – है। यह हमें प्राकृतिक, भौगोलिक और देश-विदेश का ज्ञान कराता है। इस प्रकार शिक्षा के क्षेत्र में भी दूरदर्शन सहायक सिद्ध हो रहा है। जिससे प्रतिदिन लाखों विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं। जब कोई महत्त्वपूर्ण मैच चल रहा होता है तो उसका सीधा प्रसारण दूरदर्शन पर किया जाता है। हम लोग अपने कमरे में बैठकर उन खेलों का पूरा आनंद लेते हैं।

दूरदर्शन उत्पादित वस्तुओं के प्रचार और प्रसार का भी प्रमुख माध्यम है। टेलीविज़न पर जीवनोपयोगी वस्तुओं के विज्ञापन देखकर लोग बहुत बड़ी संख्या में उनकी ओर आकृष्ट होते हैं। दूरदर्शन से जहाँ अनेक लाभ हैं, वहीं उसकी कुछ कमियाँ भी हैं। सभी लोगविशेषकर बच्चे टीवी के आदी हो चुके हैं और अपना बहुमूल्य समय इसे देखने में व्यतीत कर देते हैं।

इससे उनकी पढ़ाई के साथसाथ आँखों पर भी बुरा असर पड़ता है। दूरदर्शन की सबसे बड़ी हानि यह है कि व्यक्ति सामाजिक दृष्टि से एकाकी होता जा रहा है। अत: दूरदर्शन की इन बुराइयों से हमें खुद को बचाना होगा। वैसे दूरदर्शन का प्रयोग यदि दूरदर्शिता से करें तो ये कमियाँ दूर हो सकती हैं और दूरदर्शन का पूरा लाभ उठाया जा सकता है। इस प्रकार दूरदर्शन हमारे लिए मनोरंजन का एक महत्त्वपूर्ण साधन है और आज यह हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को टेलीविजन पर निबंध (Television Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Television Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह टेलीविजन पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *