क्रिकेट पर निबंध |Cricket Essay in Hindi |Cricket Nibandh

Cricket Essay in Hindi |Cricket Nibandh

पिछले वर्ष मैं अपने दो साथियों के साथ भारत वर्ष एवं श्री लंका के मध्य सहारा कप के लिये हुये फाइनल मैच को देखने गया। मैच फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला जाना था। दर्शक दीर्घा उत्साहित सर्मथकों से खचाखच भरी हुई थी। मैच सुबह नौ बजे प्रारम्भ होना था। सौरभ गांगुली ने भारत के लिये टॉस जीता व पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया।

भारत की ओर से सौरभ गांगुली एवं सचिन तेंदुलकर ने पारी की शुरूआत की। भारत ने दर्शकों की तालियों के शोर में ग्यारह ओवर में 100 रन पूरे किये।

किन्तु जल्दी ही श्री लंका के गेंद बाजों को बड़ी सफलता हाथ लगी। और उन्होंने सौरभ गांगुली एवं सचिन तेंदुलकर को रन आउट कर दिया। राहुल द्रविड़ ने छक्का मारने के चक्कर में अपना विकेट गंवायी। मध्यम श्रेणी के बल्ले बाज़ युवराज एवं हेमंग बदानी ने रन संख्या को 225 तक पहुँचाया। मुरलीधरन द्वारा युवराज को क्लीन बोल्ड करने के पश्चात् श्री लंका के गेंद बाजों ने तीन और विकेट लिये जो प्रशंसा के काबिल हैं। श्री नाथ ने 53 रन बनाकर अपना विशेष योगदान दिया। भारत की पारी 297 पर समाप्त हुयी।

लंच ब्रेक में हर कोई मैच के परिणाम के विषय में चर्चा कर रहा था। श्री लंका के श्रेष्ट बल्लेबाज़ सनत् जय सूर्या एवं अरविन्द डी सिल्वा ने एक के बाद एक चौकों के साथ पारी की शुरूआत करी। किन्तु श्री लंका के बल्लेबाज अनिल कुम्ले एवं श्री नाथ की बेहतरीन गेंदबाजी के सम्मुख नहीं टिक सके। उन्होंने 23 रन देकर पाँच विकेट ल। पारी 282 पर समाप्त हुई जबकि अभी दस गेंदें बाकी थीं और सभी बल्लेबाज़ आउट हो गये। भारत ने ट्राफी जीती एवं श्री नाथ को बेहतरीन प्रदर्शन के लिये मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया ।

उत्साहित भीड़ भारतीय टीम को बधाई देने मैदान पर पहुँच गयी। पुलिस को भीड़ को तितरबितर करने के लिये हल्का लाठी चार्ज करना पड़ा।

मैं मैच की खुशनुमा यादों के साथ घर वापिस पहुँचा। यह मैच मुझे जीवन पर्यन्त याद रहेगा।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को क्रिकेट पर निबंध (Cricket Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Cricket Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह क्रिकेट पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment