क्रिकेट पर निबंध |Cricket Essay in Hindi |Cricket Nibandh

Cricket Essay in Hindi |Cricket Nibandh

वर्तमान समय में क्रिकेट सबसे ज्यादा लोकप्रिय खेल है। इसके चाहनेवालों की संख्या असीमित है। जब क्रिकेट की शुरुआत हुई थी तब लोगों में बहुत ज्यादा दिलचस्पी नहीं थी। तब यह खेल ‘शाही खेलमाना जाता था। काफी समय तक क्रिकेट राजा महाराजाओं और धनी लोगों का खेल बना रहा।’पोलो’ की तरह क्रिकेट केवल बड़े लोग ही खेला करते थे।

क्रिकेट को जन्म देनेवाला देश ग्रेट ब्रिटेन है। इंग्लैंडवासी जब भारत में आए तब अपने साथ क्रिकेट का खेल भी लेकर आए थे। क्रिकेट के खेल का आरंभ लगभग छह सौ वर्ष पूर्व हुआ था। सबसे पहला क्रिकेट मैच १८ जून१७४४ को केंट और लंदन के बीच खेला गया।

कलकत्ता क्रिकेट क्लब’ भारत की पहली क्रिकेट संस्था है। संसार की सबसे पुरानी संस्था का नाम है- एम.सी.सी. । कलकत्ता के बाद बंबई में क्रिकेट की शुरुआत सन् १७९७ में हुई। मद्रास में यह खेल सन् १८४६ में शुरू हुआ था।

सन् १८७८ में एक प्रोफेसर ने प्रथम भारतीय क्रिकेट क्लब की स्थापना ‘प्रेसीडेंसी कॉलेज क्रिकेट क्लब’ के नाम से की थी।

यह खेल सर्वत्र लोकप्रिय है। ग्यारह खिलाड़ियों के बीच क्रिकेट खेला जाता है। दोनों टीमों का एक-एक कप्तान होता है। शेष खिलाड़ी कप्तान के नेतृत्व में खेल खेलते हैं। इस खेल की क्रीड़ा-पट्टिका (पिच) 22 गज यानी 20.01 मीटर लंबी होती है। खेल का निर्णय करने के लिए दो निर्णायक (अंपायर) होते हैं। उनका निर्णय अंतिम एवं सर्वमान्य होता है। एक अंपायर जहाँ से गेंदबाजी होती है, वहाँ होता है, यानी विकेट के दूसरे छोर पर। दूसरा अंपायर वहाँ खड़ा होता है, जहाँ बल्लेबाजी होती है, ‘स्क्वायर लेग’ के पास। इस अंपायर को ‘स्क्वायर लेग अंपायर’ भी कहते हैं। प्रत्येक ओवर के बाद अंपायर एक-दूसरे का स्थान ग्रहण करते हैं।

रन-संख्या की देखभाल करने के लिए दोनों दलों के एक-एक ‘स्कोरर’ होते हैं। गेंद का वजन साढ़े पाँच औस होता है। बल्ला चौड़ाई में 4.25 इंच के लगभग होता है। और लंबाई में 38 इंच । दोनों छोरों पर तीन-तीन ‘स्टंप’ (विकेट) होते हैं। प्रत्येक स्टंप चौड़ाई में ९ इंच का होता है।

यह इंग्लैंड का राष्ट्रीय खेल है। अब तो इसे भारत, पाकिस्तान वेस्टइंडीज इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड श्रीलंका दक्षिण अफ्रीका जिंबाब्वे आदि देशों ने भी अपना लिया है। यह खेल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत लोकप्रिय है।

टेस्ट मैच और एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच तो होते ही हैं, विभिन्न ट्रॉफियों के लिए भी इस खेल का आयोजन वर्ष भर होता रहता है। अपने देश में रणजी ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी, शीश महल ट्रॉफी, रानी झाँसी ट्रॉफी, बिजी ट्रॉफी, ईरानी ट्रॉफी और अब्दुल्लाह गोल्ड कप के नाम पर क्रिकेट की प्रतियोगिताएं आयोजित होती रहती हैं। विदेशों में रोहिंटन बरिया ट्रॉफी (अंतर विश्वविद्यालय) और एरोज (इंग्लैंड व ऑस्ट्रेलिया) प्रतियोगिताएँ होती हैं।

प्लिज नोट: आशा करते हैं आप को क्रिकेट पर निबंध (Cricket Essay in Hindi) अच्छा लगा होगा।

अगर आपके पास भी Cricket Nibandh पे इसी प्रकार का कोई अच्छा सा निबंध है तो कमेंट बॉक्स मैं जरूर डाले। हम हमारी वेबसाइट के जरिये आपने दिए हुए निबंध को और लोगों तक पोहचने की कोशिश करेंगे।

साथ ही आपको अगर आपको यह क्रिकेट पर हिन्दी निबंध पसंद आया हो तो Whatsapp और facebook के जरिये अपने दोस्तों के साथ शेअर जरूर करे।

Leave a Comment